Category Archives: Neurosurgeon in Delhi

6 महीने के लड्डू के सिर पर इस वजह से था एक और सिर! इस तरह डॉक्टर्स ने किया इलाज

6 महीने के लड्डू के सिर पर इस वजह से था एक और सिर! इस तरह डॉक्टर्स ने किया इलाज
लड्डू की शनिवार को दिल्ली के एक अस्पताल में सर्जरी हुई है. सर्जरी करने वाले डॉक्टर्स का कहना है कि अब लड्डू पूरी तरह ठीक है और उन्हें एक-दो

NEUROSURGEON, NEUROLOGIST, NAJAFGARH NEURO CARE CENTRE, DR. MANISH KUMAR, SHKEI NEURO CARE,

में डिस्चार्ज कर दिया जाएगा.

6 महीने के लड्डू के सिर के पीछे एक ‘सिर’ लगा था. लेकिन, अब लड्डू के सिर की सर्जरी हो गई है और परिवारों वालों के साथ डॉक्टर्स को भी उम्मीद है कि जल्द ही लड्डू दूसरे बच्चों की तरह खेलने कूदने लगेगा. दरअसल, हम आप बात कर रहे हैं 6 महीने पहले गाजीपुर में पैदा हुए एक बच्चे की, जिसका नाम है लड्डू. लड्डू के सिर के पीछे एक सिर लगा हुआ था, जो एक ट्यूमर की तरह था, जो आप ऊपर लगी फोटो में देख भी सकते हैं. हालांकि, अब लड्डू पूरी तरह ठीक है.
लड्डू की शनिवार को दिल्ली के एक अस्पताल में सर्जरी हुई है. सर्जरी करने वाले डॉक्टर्स का कहना है कि अब लड्डू पूरी तरह ठीक है और उन्हें एक-दोन में डिस्चार्ज कर दिया जाएगा. ऐसे में जानते हैं कि आखिर ये बीमारी क्या है और किस तरह से इसका इलाज किया गया…
कौन सी है ये बीमारी
दरअसल, लड्डू को जो बीमारी है, उसका नाम है एनसीफैलोसील. इस बीमारी से जूझ रहे लड्डू का जीवन खतरे में है, लेकिन दिल्ली के डॉक्टर मनीष इसका इलाज करने वाले हैं. इस बीमारी की वजह से लड्डू ना ठीक से सो पाता है और ना ही ठीक से खेल पाता है. दरअसल,जब ब्रेन का हिस्सा बाहर निकल जाए तो बच्चा इस प्रकार की बीमारी का शिकार हो जाता है. यह जन्मजात होती है.
यह बीमारी काफी रेयर होती है. कहा जाता है कि करीब 10-12 हजार लोगों में से एक किसी एक को यह बीमारी होती है. इस बीमारी को लेकर सीनियर न्यूरोसर्जन डॉक्टर मनीष कुमार ने कहते हैं कि जब मां के पेट में बच्चा बनता है तब किसी कारण वश किसी अंग के विकास में गड़बड़ी हो जाती है, जिसके बाद से इस तरह का रोग होता है. हालांकि, इसका इलाज संभव है.’
कैसे की गई सर्जरी?
लड्डू की सर्जरी करने वाले डॉक्टर मनीष ने बताया, ‘सर्जरी सक्सेसफुल रही और यह अलग तरह का अनुभव था. सर्जरी के बाद लड्डू पूरी तरह ठीक है और उन्हें दो-तीन में छुट्टी दे दी जाएगी. सर्जरी करीब 3 घंटे चली थी और लड्डू को ऑपरेशन थियेटर में करीब 5-6 घंटे रखा गया था.’
डॉक्टर के अनुसार, ‘लड्डू के सिर के पीछे जो सिर लगा था, उसमें पानी भरा हुआ था. अब इसे अलग कर दिया गया है और इसमें से करीब 1.5 किलो लीटर पानी निकला था.’ सर्जरी के बार डॉक्टर ने बताया कि इसमें गोले में दिमाग का कुछ हिस्सा होने की वजह से सर्जरी को ज्यादा ध्यानपूर्वक किया गया था. ये ट्यूमर नहीं था और अब अलग कर दिया गया है.’
बता दें कि यह बच्चा एक मजदूर परिवार में पैदा हुआ था और अभी यह 6 महीने का है. इसके इलाज में भी काफी खर्चा होने वाला है, जिसमें कुछ पैसा अस्पताल की ओर से माफ किया है. वहीं, कुछ पैसों को इंतजाम किसी संगठन ने किया है और थोड़ा पैसा परिवार ने दिया.

नजफगढ़ न्यूरो केयर सेंटर के प्रख्यात न्यूरो सर्जन डॉ मनीष कुमार ने एनसीफैलोसिल का किया सफल ऑपरेशन

प्रख्यात न्यूरोसर्जन डॉ मनीष कुमार ने एनसीफैलोसिल का किया सफल ऑपरेशन
कमलेश पांडेय/वरिष्ठ पत्रकार
# यूपी के गाजीपुर जनपद निवासी 6 माह के लड्डू के सिर के पीछे बने एक और सिर का किया सफल ऑपरेशन
# जयपुर गोल्डन अस्पताल, रोहिणी, दिल्ली में आधुनिक चिकित्सा उपकरणों से सुसज्जित ऑपरेशन थियेटर में शनिवार को किया ऑपरेशन
# ऑपरेशन के बाद बच्चा है स्वस्थ और माता-पिता प्रसन्नचित
दिल्ली/गाजियाबाद।

NAJAFGARH NEURO CARE CENTRE
A-27. LAXMI GARDEN, TUDA MANDI
NAJAFGARH, DELHI -110043

न्यूरो केयर सेंटर के प्रख्यात न्यूरो सर्जन डॉ मनीष कुमार ने शनिवार को जयपुर गोल्डन अस्पताल, रोहिणी, दिल्ली में 6 महीने के लड्डू के सिर के पीछे भी बने एक सिर का सफल ऑपरेशन किया। उनकी इस सफलता से लड्डू के आगे की परेशानी टल गई, वहीं उसके माता-पिता ने भी राहत की सांस ली है। इस बारे में पत्रकारों से बातचीत करते हुए डॉ कुमार ने बताया कि पानी से भरे इस दूसरे सिर की वजह से वह न तो ठीक से सो पाता था और न ही खेल पाता था। वहीं इसमें चोट लगने और फटने का डर भी हमेशा बना रहता था, जो ऑपरेशन की सफलता से अब दूर हो चुका है।

न्यूरोसर्जन डॉ मनीष कुमार ने बताया कि एनसीफैलोसील नामक इस दुर्लभ (रेयर) बीमारी से जूझ रहे लड्डू का जीवन खतरे में था, लेकिन दिल्ली के बड़े अस्पताल में उपलब्ध बेशकीमती चिकित्सा उपकरणों के सहारे हमने इस बच्चे की सफल सर्जरी करने की चुनौती स्वीकार की है और इसे सफल बनाने में जुट गए। पूर्व के पेशेवर अनुभवों और ईश्वर के साथ से यह कार्य पूरा हुआ।

नजफगढ़ न्यूरो केयर सेंटर के न्यूरो सर्जन डॉक्टर मनीष कुमार ने बताया कि मेडिकली इस बीमारी को एनसीफैलोसिल कहा जाता है। जिसमें एन्सेफैल का मतलब ब्रेन होता है और सील का मतलब होता है उसका बाहर निकलना। यानी जब ब्रेन का कोई हिस्सा बाहर निकल जाए तो बच्चा इस प्रकार की बीमारी का शिकार हो जाता है। उन्होंने बताया कि यह जन्मजात और दुर्लभ (रेयर) बीमारी है तथा लगभग 10-11 हजार नवजात बच्चों में से किसी एक को यह बीमारी होती रहती है, जिसका एकमात्र इलाज सर्जरी ही है। उन्होंने कहा कि सर्जरी में इस हिस्से को सफलतापूर्वक बाहर निकाल कर सिर को बंद किया जाता है। यह सर्जरी आसान नहीं है, बल्कि एक बेहद चुनौतीपूर्ण कार्य है। लेकिन संभव है और लोग इसका फायदा उठाते रहते हैं।

डॉक्टर मनीष का कहना है कि यह ट्यूमर नहीं है, बल्कि ट्यूमर की तरह दिखता है। दरअसल, सिर के आकार के बने इस हिस्से में ब्रेन का एक छोटा सा हिस्सा है, जो हड्डी से बाहर आ गया है, जिसमें ज्यादातर पानी ही है। लेकिन सिर को जिस प्रकार से हड्डियों का प्रोटेक्शन प्राप्त होता है, इसमें वह नहीं है। इसलिए चोट लगने पर इसके फटने का डर था, जिससे बच्चे को और दिक्कत हो सकती थी।

न्यूरोसर्जन डॉ मनीष कुमार ने बताया कि यूपी के गाजीपुर इलाके में एक गरीब परिवार में लड्डू का जन्म हुआ। हालांकि, जन्म के साथ ही उसे यह परेशानी थी, जो धीरे-धीरे बढ़ती चली गई। कई जगहों पर उसके माता-पिता ने इलाज कराया। लेकिन कोई सर्जरी को तैयार नहीं हुआ। ऐसे में गाजियाबाद में एक डॉक्टर ने उनसे यानी डॉ मनीष कुमार से मिलने की सलाह दी, क्योंकि वह पहले भी इस तरह की सर्जरी कर चुके हैं।

डॉक्टर कुमार ने आगे कहा कि यह बड़ी सर्जरी थी, इसलिए जयपुर गोल्डन अस्पताल में ही किया। क्योंकि वहां समस्त आधुनिक उपकरण उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि बच्चे की एमआरआई जांच में पता चला कि उसके स्पाइन में भी यह पानी जा रहा था, जिससे हाथ पैर के मूवमेंट में दिक्कत हो सकती थी। वहीं, सिर से ब्रेन का जो हिस्सा निकला हुआ था, उसी से पानी भी बाहर निकल रहा था, और ज्यादातर पानी बाहर बने हिस्से में जा रहा था और कुछ पानी स्पाइनल कोड में जा रहा था। जो चिंताजनक बात थी। लेकिन उन्हें पूरी उम्मीद थी कि पहली सर्जरी में ही यह कवर हो जाएगा। यदि पहली सर्जरी में ठीक नहीं होता है तो 6 महीने बाद दूसरी सर्जरी करेंगे। उन्होंने बताया कि शनिवार को हुई सर्जरी सफल रही।

डॉक्टर मनीष कुमार ने कहा कि अपने देश में अक्सर लोग ऐसे बच्चों को भगवान का रूप मान लेते हैं और ऐसी बीमारी को लाइलाज समझकर इलाज नहीं कराते हैं। जबकि आधुनिक चिकित्सा विज्ञान में इसका इलाज है और सम्बन्धित इलाज के द्वारा कोई भी बच्चा सामान्य जिंदगी जी सकता है। उन्होंने बताया कि इस बात में कोई दो राय नहीं कि इस तरह की सर्जरी काफी महंगी होती है, जिसके चलते लड्डू के माता-पिता को भी परेशानी उठानी पड़ रही है। वहीं, लड्डू के पिता भी पूरी तरह से ठीक नहीं हैं और वह दाहिने पैर से हैंडीकैप हैं, लेकिन वह अपने बच्चे को अच्छा जीवन देने के लिए यह सर्जरी कराया। उनकी इस पॉजिटिव थिंकिंग यानी सकारात्मक सोच को हमें सलाम करना चाहिए और बाकी लोगों को भी ऐसी कठिन परिस्थिति में भी यही फैसला लेना चाहिए।

फोटोकैप्शन:- प्रख्यात न्यूरोसर्जन डॉ मनीष कुमार के हाथों की सफाई से लड्डू को मिली नई जिंदगी।

NEUROSURGEON, NEUROLOGIST, NAJAFGARH NEURO CARE CENTRE, DR. MANISH KUMAR, SHKEI NEURO CARE,

6 महीने के लड्डू के सिर के पीछे बने एक और सिर के इलाज में जुटे डॉक्टर नजफगढ़ न्यूरो केयर सेंटर के न्यूरोसर्जन डॉक्टर मनीष कुमार

6 महीने के लड्डू के सिर के पीछे बने एक और सिर के इलाज में जुटे डॉक्टर: राहुल आनंद | नवभारत टाइम्स
मेडिकली इस बीमारी को एनसीफैलोसील कहा जाता है, इसमें एन्सेफैल का मतलब ब्रेन होता है और सील का मतलब उसका बाहर निकलना। यानी जब ब्रेन का हिस्सा बाहर निकल जाए तो बच्चा इस प्रकार की बीमारी का शिकार हो जाता है।
हाइलाइट्स:
6 माह के बच्चे को जन्मजात रेयर बीमारी- एनसीफैलोसीस
• लगभग 10-11 हजार नवजात बच्चों में किसी एक को होती है
• पानी से भरे इस दूसरे सिर की वजह से लड्डू सो नहीं पाता
• इसमें चोट लगने और फटने से जान का हो सकता है खतरा

नई दिल्ली
6 महीने के लड्डू के सिर के पीछे भी एक सिर बन गया है। पानी से भरे इस दूसरे सिर की वजह से वह न तो ठीक से सो पाता है और न खेल पाता है। इसमें चोट लगने और फटने का डर है। एनसीफैलोसील नामक इस रेयर बीमारी से जूझ रहे लड्डू का जीवन खतरे में है, लेकिन दिल्ली के डॉक्टर ने इस बच्चे की सफल सर्जरी करने की चुनौती स्वीकार की है और इसे सफल बनाने में जुट गए हैं।

क्या है यह बीमारी
नजफगढ़ न्यूरो केयर सेंटर के न्यूरोसर्जन डॉक्टर मनीष कुमार ने बताया कि मेडिकली इस बीमारी को एनसीफैलोसील कहा जाता है, इसमें एन्सेफैल का मतलब ब्रेन होता है और सील का मतलब उसका बाहर निकलना। यानी जब ब्रेन का हिस्सा बाहर निकल जाए तो बच्चा इस प्रकार की बीमारी का शिकार हो जाता है। यह जन्मजात और रेयर बीमारी है। लगभग 10 से 11 हजार नवजात बच्चों में से किसी एक को यह बीमारी होती है, जिसका इलाज सर्जरी ही है। सर्जरी में इस हिस्से को सफलतापूर्वक बाहर निकाल कर सिर को बंद किया जाता है। सर्जरी आसान नहीं है। यह एक चुनौतीपूर्ण है, लेकिन संभव है।

क्या है खतरा
डॉक्टर का कहना है कि यह ट्यूमर नहीं है, लेकिन ट्यूमर की तरह ही दिखता है। सिर के आकार के बने इस हिस्से में ब्रेन का एक छोटा सा हिस्सा है, जो हड्डी से बाहर आ गया है, इमसें ज्यादातर पानी ही है। लेकिन सिर को जिस प्रकार हड्डियों का प्रोटेक्शन होता है, इसमें वह नहीं है। इसलिए चोट लगने पर फटने का डर है, जिससे बच्चे को और दिक्कत हो सकती है।

डॉ. मनीष कुमार ने बताया कि यूपी के गाजीपुर इलाके में एक गरीब परिवार में लड्डू का जन्म 6 महीने पहले हुआ था। जन्म के साथ ही उसे यह परेशानी थी, जो धीरे धीरे बढ़ती चली गई। कई जगहों पर बच्चे के माता पिता ने इलाज कराया, लेकिन कोई इसकी सर्जरी को तैयार नहीं हुआ। गाजियाबाद में एक डॉक्टर ने लड्डू के माता पिता को उनसे मिलने की सलाह दी, क्योंकि वह इससे पहले ही इस तरह की सर्जरी कर चुके हैं। डॉक्टर मनीष ने कहा कि यह बड़ी सर्जरी है, इसलिए बच्चे की सर्जरी वह जयपुर गोल्डन अस्पताल में करेंगे।

डॉक्टर ने कहा कि बच्चे की एमआरआई जांच में पता चला कि उसके स्पाइन पर भी इसका असर हो रहा है। स्पाइन में भी यह पानी जा रहा है, इससे हाथ पैर के मूवमेंट में दिक्कत हो सकती है। सिर से ब्रेन का जो हिस्सा निकला है, उसी से पानी भी बाहर निकल रहा है, ज्यादातर पानी बाहर बने हिस्से में जा रहा है और कुछ पानी स्पाइनल कॉड में जा रहा है। यह चिंताजनक है, लेकिन पूरी उम्मीद है कि पहली सर्जरी में यह कवर हो जाए। अगर यह पहली सर्जरी में ठीक नहीं होता है तो छह महीने बाद दूसरी सर्जरी करेंगे। हमने सर्जरी को सफल बनाने के लिए अपनी तैयारी शुरू कर दी है। शनिवार को सर्जरी प्लान की गई है।
डॉक्टर ने कहा कि अपने देश में इस प्रकार की बीमारी को लेकर लोगों की जो धारणा है, वह गलत है। अक्सर लोग ऐसे बच्चे को भगवान का रूप मान लेते हैं और इलाज नहीं कराते, जबकि इलाज कराना चाहिए। क्योंकि इसका इलाज है और बच्चा अपनी सामान्य जिंदगी जी सकता है। यह सही है कि इस तरह की सर्जरी काफी महंगी होती है और लड्डू के माता पिता को भी परेशानी उठानी पड़ रही है। लड्डू के पिता भी पूरी तरह से ठीक नहीं है, वह दाहिने पैर से हैंडीकैप हैं, लेकिन, वह अपने बच्चे को अच्छा जीवन देने के लिए सर्जरी करा रहे हैं। उनकी इस पॉजिटिव सोच को हमें सलाम करना चाहिए और बाकी लोगों को भी ऐसी स्थिति यही फैसला लेना चाहिए।

वरिष्ठ न्यूरो सर्जन डॉ. मनीष कुमार की अगुवाई में दिल्ली के नजफगढ़ में खुला न्यूरो केअर सेंटर

वरिष्ठ न्यूरो सर्जन डॉ. मनीष कुमार की अगुवाई में दिल्ली के नजफगढ़ में खुला न्यूरो केअर सेंटर


नई दिल्ली
Central Industrial Security Force – CISF के आईजी (नार्थ) श्री सुधांशु कुमार जी एवं Department of Science and Technology, Government of India के सलाहकार व निदेशक डॉ मनोज पटेरिया जी के कर कमलों द्वारा मकर संक्रांति के अवसर पर नजफगढ़ न्यूरो केअर सेंटर का शुभारंभ नजफगढ़ में हुआ।
इस अवसर पर दोनों अधिकारियों ने डॉ मनीष की पहल की सराहना की।
देश-दुनिया के जाने माने न्यूरो सर्जन डॉ Manish Kumar की यह पहल दिल्ली के नजफगढ़ के 52 गांवों के लिए तो वरदान साबित होने ही वाला है, इससे पूर्वांचल से आने वाले वे लोग जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं, उन्हें भी बेहतर उपचार कम खर्चे में मिल सकेगा।
डॉ. मनीष ने कहा कि वे शुभ लाभ की परिकल्पना को साकार करते हुए इस सेंटर को आगे बढ़ाएंगे।
इस अवसर पर स्वस्थ भारत अभियान के धीमेश कुमार दुबे अशोक प्रियदर्शी सहित बिहार शिक्षक संघ के अध्यक्ष आनंद कौशल जी, वरिष्ठ वकील मृत्युंजय कुमार की उपस्थिति ने आयोजन को सार्थक व सफल बनाया।
डॉ मनीष कुमार के इस पहल के लिए स्वस्थ भारत न्यास के चेयरमैन आशुतोष कुमार सिंह ने भी अपनी शुभकामनाएं प्रेषित की है।

वरिष्ठ न्यूरो सर्जन डॉ. मनीष कुमार की अगुवाई में दिल्ली के नजफगढ़ में खुला न्यूरो केअर सेंटर

दिल्ली के नजफगढ़ में खुला न्यूरो केअर सेंटर, सीएआईएसएफ के आईजी नार्थ सुधांशु कुमार एवं डीएसटी के सलाहकार व निदेशक डॉ. मनोज पटेरिया ने किया उद्घाटन

दिल्ली के नजफगढ़ में खुला न्यूरो केअर सेंटर

दिल्ली के नजफगढ़ में खुला न्यूरो केअर सेंटर, सीएआईएसएफ के आईजी नार्थ सुधांशु कुमार एवं डीएसटी के सलाहकार व निदेशक डॉ. मनोज पटेरिया ने किया उद्घाटन
मुख्य अतिथि को पुष्प गुच्छ प्रदान करके स्वागत करते हुए डॉ मनीष कुमार
स्वस्थ भारत अभियान के अंतर्गत वरिष्ठ न्यूरो सर्जन डॉ. मनीष कुमार की अगुवाई में खुला है यह सेंटर
नई दिल्ली। केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के आईजी (नार्थ) सुधांशु कुमार एवं विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार के सलाहकार व निदेशक डॉ मनोज पटेरिया के द्वारा मकर संक्रांति के अवसर पर नजफगढ़ न्यूरो केअर सेंटर का शुभारंभ नजफगढ़ में हुआ। इस मौके पर चिकित्सा, प्रशासन व व्यावसायिक जगत की प्रमुख हस्तियां उपस्थित रहीं। इस अवसर पर दोनों अधिकारियों श्री कुमार व डॉ पटेरिया ने डॉ मनीष की पहल की सराहना की।
बता दें कि देश-दुनिया के जाने माने न्यूरो सर्जन डॉ मनीष कुमार की यह पहल दिल्ली के नजफगढ़ के 52 गांवों के लोगों के लिए तो वरदान साबित होने ही वाला है, इससे पूर्वांचल से आने वाले वे लोग जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं, उन्हें भी बेहतर उपचार कम खर्चे में मिल सकेगा। डॉ. मनीष ने कहा कि वे शुभ लाभ की परिकल्पना को साकार करते हुए इस सेंटर को आगे बढ़ाएंगे।

इस अवसर पर स्वस्थ भारत अभियान के धीमेश कुमार दुबे, अशोक प्रियदर्शी सहित बिहार शिक्षक संघ के अध्यक्ष आनंद कौशल, वरिष्ठ वकील मृत्युंजय कुमार की उपस्थिति ने आयोजन को सार्थक व सफल बनाया। डॉ मनीष कुमार के इस पहल के लिए स्वस्थ भारत न्यास के चेयरमैन आशुतोष कुमार सिंह ने भी अपनी शुभकामनाएं प्रेषित की है।

THE TOP TEN 10 BEST NEURO NEUROLOGISTS NEUROSURGEON DOCTOR MANISH KUMAR IN GREEN PARK NEW DELHI INDIA 2020-2021

THE TOP TEN 10 BEST NEURO NEUROLOGISTS NEUROSURGEON DOCTOR MANISH KUMAR IN GREEN PARK NEW DELHI INDIA 2020-2021

Nowadays, many Neuro Neurologist Neurosurgeon doctors are available in Delhi India but no one is sitting at this time only and a no’s of few doctors are practicing /sitting at Hospitals & Clinic due to Corona. A one of the Top Ten 10 best Neuro Neurologists Neurosurgeon doctor Manish Kumar is the best doctor of Indraprastha Apollo Sarita Vihar, Maharaja Agrasen Hospital Delhi, Jaipur Golden Hospital Rohini Delhi, and many more. A famous Neuro, Neurologist, Neurosurgeon Dr. Manish Kumar has done MBBS from Madurai Tamilnadu and DNB-Neurosurgery from Apollo Hospitals Chennai. Dr. Manish Kumar has 27+ Years’ experience in Neuro. He is also a social worker & doing this job as a professional & social responsibility. Dr. Manish Kumar has organized a lot of Health camps all over the country. Dr. Manish Kumar got many awards in Ind

ia like Excellence Award as the best Neurosurgeon by Healthcare Today and many more by Hospitals & top NGO’s. A thousand patients are happy nowadays due to his successful treatment. The TOP TEN BEST NEURO NEUROLOGISTS NEUROSURGEON DOCTOR MANISH KUMAR is treating like Headache & Seizure (Fits), Brain & Spine Injury, Brain & Spine Tumor, Spine, Disc & Deformity, Stroke, Brain Haemorrhage, Blood Clot, Children Brain & Spine Disease, Weakness in the brain or nerves, epilepsy, paralysis/stroke weakness in the hands and feet, face, limbs, and numbness. Reduced or missing eyesight with headache (without cataract). Nerve compression in the spine – back pain / leg pain / numb feet / weakened legs / feet thin. A tumor (glioma, meningioma, pituitary tumor, and many other types of tumor’s) in the brain or in the spine due to loss of voice/lack of urine control, brain hemorrhage, Aneurism, loss of a side, hormonal deficiency, half-headache, migraine, brain cancer, cancer of other body parts spread to the brain. Brain injury water freezes. Hearing and dizziness. to faint. Brain weakness in children. Head enlargement, weakness of the leg due to disturbance of the spine, no control of urine, etc. The Top Ten 10 best neuro or neurologists or neurosurgeon doctor Manish Kumar is sitting at our own clinic at SHKEI NEURO CARE CENTER, SHRI RAM MEDICOS, C1/G Green Park Extension (Ext), Green Park Gurudwara, Green Park Metro in south Delhi-110016. SHKEI NEURO CARE CENTER, SHRI RAM MEDICOS, C1/G Green Park is nearby Green Park Metro, Green Park Gurudwara, Yusuf Sarai, Kalu Sarai, Ber Sarai, Katwariya Sarai, Gulmohar Park, AIIMS Hospital, Ansari Nagar, Hauz Khas Metro, Malviya Nagar Metro, Saket Metro, Safdarjung Hospital, IIT Delhi Metro, JNU (Jawahar Lal Nehru University, GK1, GK2, Arjun Nagar, Safdarjung Enclave, Arvindo Margo Road Market Place, Gautam Nagar, RK Puram, Vasant Kunj, Vasant Vihar, Vasant Kunj, Chhatarpur, Mehrauli, Mahipalpur, Lajpat Nagar, Defence Colony, INA, South Extension, CP, Cournaught Place, Jor Bagh, Lok Kalyan Marg, INA Metro, Defence Colony, Sarojini Nagar, Munirka, Chirag Delhi, Ber Sarai, Lodhi Road Gargen, Rajiv Chawk Metro Station, New Delhi Railway Station(NDLS), New Delhi Metro Station, Old Delhi Railway Station, Chandni Chowk Metro, Samaypur Badli, Rohini,Haiderpur Badli Mor, Jahangirpuri, Adarsh Nagar, Burari, Azadpur, Model Town, GTB Nagar, Mukherji Nagar, Vishwa Vidyalaya, Vidhan Sabha, Civil Lines, Kashmiri Gate, Chandani Chowk, Chawri Bazar, Rijiv Chowk, Patel Chowk, Central Secretariat, Udyog Bhawan, Lok Kalyan Marg, Delhi Haat INA, Kotla Mubarakpur, Qutub Minar, Chhatapur, Sultanpur, Ghitorni, Arjan Garh, Guru Dronacharya, Sikandarpur, MG Road, IFFCO Chowk, HUDA City Centre, Gurgaon, Noida, Ghaziabad, Yellow Line Metro, Blue Line Metro, Magenta Line Metro, Pink Line Metro, Red Line Metro, Janakpuri West, Dabri Mor, Dashrathpuri, Palam, Sadar Bazar Cantonment, IGI Airport Terminal, Shankar Vihar, Vasant Vihar, Vasant Kunj, R.K Puram, IIT Delhi, Panchsheel Park, Chirag Delhi, Greater Kailash, Nehru Enclave, Kalka Ji Mandir, Okhla, Sukhdev Vihar, Jamia Miliya Islamiya, Majlis Park, Azadpur, Shalimar Bagh, Neta Ji Subhas Palace, Shakurpur, Punjabi Bagh, Bhikaji Cama Place, Sarojini Nagar, South Extension, Lajpat Nagar, Vinobapuri, Ashram, Sarai Kale Khan, Nizamudin, Mayur Vihar, Sahibabad, Vasundhra, Shakti Khand, Indirapuram, Vaibhav Khand, Noida City Centre, Golf Course, Botanical Garden, New Ashok Nagar, Akshardham, Yamuna Bank, Indraprastha, Supreme Court, Pragati Maidan, ITO, Mandi House, Barakhamba Road, Ramakrishna Ashram Marg, Jhandewalan, Karol Bagh, Rajendra Place, Laxmi Nagar, Nirman Vihar, Preet Vihar, Karkarduma, Sakarpur, Anand Vihar, Kaushambi, Vaishali, Mohan Nagar, Nand Gram, Raj Nagar Extension, Faridabad, South Delhi, South West Delhi, West Delhi, East Delhi, New Delhi, Delhi NCR, Punjab, Hariyana, Uttar Pradesh, Bihar, West Bengal, Jharkhand, Uttarakhand, Himanchal, Jammu & Kashmir, North India etc.
For an Appointment or any inquiry related to Neuro Neurologists Neurosurgeon Doctor Manish Kumar please call at 9312513809 / 9711025181 / 9667756785

Green Park Address: SHKEI NEURO CARE CENTRE, SHRI RAM MEDICOS, C1/G, Green Park Ext. near Green Park Metro or Green Park Gurudwara or AIIMS Hospital, South Delhi, New Delhi-110016.

Dwarka Address: SHKEI NEURO CARE CENTRE, 465 SFS Flats, Pocket-1, Dwarka Sector-9, Dwarka, Delhi-110075. Contact-9711025181 / 9667756785

Upcoming address of Najafgarh SHKEI Neuro Care Hospital: SHKEI NEURO CARE CENTRE, A-27, Ground Floor, Laxmi Garden, Naya Bazar, Near Reliance Smart, Najafgarh, New Delhi-110043. Contact-9711025181 / 9667756785

Website: https://www.drmanishneurosurgeon.com/
YouTube: https://www.youtube.com/watch?v=HYBjqnzKUbg
Email: drmanishkumarneurosurgeon@gmail.com, info@drmanishneurosurgeon.com

What is the Brain Tumor in 2020-2021 by Dr. Manish Kumar

What is the Brain Tumor in 2020-2021 by Dr. Manish Kumar-:
Like any other tumor in the body, a Brain tumor is an unwanted and unnecessary uncontrolled growth inside or close to the Brain. It may be malignant (cancerous) or simple. Due to the limited availability of the space and importance of each & every small part of the Brain, even non-cancerous tumors of the Brain are dangerous for life and may trouble the person a lot. The symptoms of brain tumors occur as per the size of the tumor, the rate of growth, the level of malignancy, and the location of the tumor. In addition to the tumor pressing against the nerves and adjacent tissues and thus not allowing it to function normally, it gradually destroys these cells as the tumors grow. Another cause of symptoms is a rise in the pressure inside the head (which a close compact compartment made up of bones all around) as the tumor occupies the space inside the head.

What Are the Warning Signs of Brain Tumor?
The location of the tumor directly aff

Brain Tumor

Brain Tumor

ects the intensity and type of symptoms.
Certain brain tumors grow away from the crucial points of the brain and may not exhibit symptoms and hence these are not detected until they have reached a considerable size that triggers severe symptoms. Tumors that grow close to the vital areas show symptoms from the initial stage and can be detected early. Other types of tumors grow rapidly or are positioned close to vital areas of the brain, causing symptoms to occur quickly. As a tumor grows, the brain may swell and fluid often develops. As this mass continues to expand within the limited space of the skull cavity, the pressure on the other parts of the brain increases and triggers a wide range of symptoms and life-threatening conditions.
In case the tumor is affecting the hormonal balance (like Pituitary Tumor or Pineal Gland Tumor), the symptoms are experienced as per the hormones secreted throughout the body.
The largest part of the brain is the cerebrum, which is again divided into two parts right and left. All the conscious and voluntary functions and information needed for that are received, processed, stored, and used to generate spoken or motor response.
Tumor in this region directly affects the motor as well as sensory function and memory. But if not in the exact area needed for the specific functions, the tumor needs to grow to a large size to cause symptoms. Lower down there is Cerebellum and Brain stem where important involuntary functions are organized and controlled like Heartbeat and Breathing and cranial nerves start from this area.

There are brain tumor symptoms which are generic and come across as warning signs of a brain tumor that should not be ignored: –

• Headache-
This won’t feel like a normal stress headache. It is a deep, dull headache that reoccurs frequently. The pattern of the headache will seem to change. Headache is not a very early symptom of a brain tumor and is not felt until the tumor has reached a significant size. If a headache is associated with nausea/ giddiness/ vomiting especially on waking up (in other than pregnancy situation), it indicates a severe increase in the pressure inside the head.

• Seizures-
The tumor irritates the brain neurons which makes them respond abnormally and they lose control. The triggers abnormal movements in the body. These movements cannot be controlled by the person experiencing it. The abnormal Brain activity spreads from the starting area to other areas and the whole of the Brain and involves the area of consciousness and the person becomes unconscious. When a seizure strikes it could be in any form like jerking, muscle-flexing in the limb or face, or entire body convulsions with or without unconsciousness. This is a grave state because the person needs immediate attention and help.

• Numbness and weakness-
A tumor that suppresses nerves that control the sensation or motor activity directly or indirectly, causes numbness and weakness. It may also cause loss of control or loss of body balance; the patients experience difficulty in handling objects or balancing. The person might seem to be fumbling with keys, losing balance, spilling liquids while handling a glass, cup, or bowl. The symptoms also include problems in swallowing food, controlling facial expressions, and remembering things.
The patient experiences sensory changes in vision, hearing, touch, taste, and smell. There could be a loss of partial or complete vision.

• Personality change-
With all these symptoms cropping up at a time, the overall personality and behavior of the person are altered. Clumsiness, memory loss, and aches cause the person to get irritated due to the inability to perform daily activities normally. Moreover, the loss of control makes the person helpless. There could be a sudden outburst of anger, aggression, impulsive sex drive, and grumpiness.
The cause of brain tumors is not yet known fully. Doctors have been able to identify certain risk factors genes responsible but not the exact cause that triggers uncontrolled cell mutation that makes the tumor. Only awareness and prompt medical attention can help detect and treat a brain tumor.

The best Neurologist and Neurosurgeon “Dr. Manish Kumar” is currently sitting at many places such as Apollo Hospital, Maharaja Agrasen Hospital and at our own Clinic SHKEI NEURO CARE 465-SFS Flats, Pocket-1, Sector-9, Dwarka, New Delhi 110075 and SHKEI NEURO CARE C/O SHRI RAM MEDICOS Shop No.C-1/G, Green Park Extn, Opp Indian Oil Building, Near Gurudwara (Near AIIMS SAFDARJUNG HOSPITAL), Near Green Park Metro, New Delhi, Delhi 110016

If you need the safe Brain Tumor Surgery, please contact the well-known Neurosurgeon “Dr. Manish Kumar” at +91 9840267857
For appointments or any help, please contact at +91 9711025181
You can visit our website https://www.drmanishneurosurgeon.com/
You can visit & follow our YouTube Channel https://www.youtube.com/channel/UCZBWKBSxnNlVo1Xru4n7N8w
You can visit our Facebook Page https://www.facebook.com/drmanishneurosurgeondwarka
Financially week or poor patients are most welcome we will support you!